उद्देश्य

  • भारत में परम्परागत एवं गैर परम्परागत ऊर्जा के स्त्रोतों से विद्युत उत्पादन की योजनाओं का एकीकृत एवं सक्षम विकास व निर्माण कराना।

  • जहां पर आवश्यक हो वहां अंतर्राज्यीय पारेषण ऊर्जा विनियम का कार्य आसान हो।

  • सहायक अवयवों से परस्पर तालमेल बनाये रखना ताकि उनके आर्थिक व वित्तीयउद्देश्य/लक्ष्य का निर्धारण कियाजा सके और उनके कार्यकलापों का पुनर्वालोकन नियन्त्रण तथा निर्देशन किया जा सके व उनके अधीन संसाधनों का अधिकतम उपयोग हो।

  • ज्ञापन एवं संस्था नियमावली में वर्ठित कंडिकानुसार, सरकारी/सार्वजनिक उपक्रम वित्तीय संस्थानों के एजेन्ट के रूप में कार्यकलाप करना।

  • ज्ञापन एवं संस्था नियमावलीमें वर्ठित कंडिकानुसार, विद्युत ऊर्जा के विकास से जुडे सभी कार्यों के लिएजैसे क्रय, विक्रय, आयात, निर्यात, उत्पादन, व्यापार, निर्माण कार्य करना।

  • Design & Developed by Cyfuture